SHARE


bareillys dm 650x400 61517311368

26 जनवरी को उत्तरप्रदेश के कासगंज में हुई हिंसा के मामले में फेसबुक पर पोस्ट कर चर्चा में आये बरेली डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह की दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने तारीफ़ की है.

आयोग ने डीएम राघवेंद्र की हिम्मत की सराहना करते हुए कहा कि आप ने हिम्मत के साथ जो नजरिया पेश किया है. वह काबिल ए तारीफ़ है. जिसकी देश भर में प्रशंसा हो रही है. जो लोग आप के खिलाफ बोल रहे है. वह न तो मुख्यधारा के लोग है और नहीं देश से उनको कुछ लेना देना है.

आयोग ने कहा कि देश आप के साथ है. आप ने देश और समाज के प्रति अपने दायित्व को निभाया है. ऐसे में आप को न्याय और अधिकार की लड़ाई में खुद को अकेला समझने की जरूरत नहीं है.

No automatic alt text available.

ध्यान रहे डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कासगंज से जुड़े मामले में फेसबुक पर लिखा था कि मुस्लिम मोहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाने और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे का अजीब रिवाज बन गया है. उन्होंने लिखा ”अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मोहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली के खेलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए….”

इसी के साथ उन्होंने एक और बड़ा सवाल भी उठाया. उन्होंने कहा कि भारत का पाकिस्तान से बड़ा दुशमन तो चीन है. फिर चीन मुर्दाबाद के नारे क्यों नहीं लगाए जाते. उन्होंने लिखा, ‘चीन तो बड़ा दुश्मन है, तिरंगा लेकर चीन मुर्दाबाद क्यों नहीं…? हालांकि विवाद बढ़ने पर उन्हें अपनी पोस्ट वापस लेनी पड़ी थी.

The post कासगंज हिंसा: सच बोलने पर अल्पसंख्यक आयोग ने की बरेली डीएम की तारीफ़ appeared first on Kohram Hindi News.