SHARE


satyapalsingh 650x425 070916030413

उत्तर प्रदेश के बागपत से सांसद और मोदी सरकार में केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास राज्य मंत्री डॉ.सत्यपाल सिंह का विवादित बयान सामने आया है.

बिलासपुर स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह में पहुंचे सत्यपाल ने कहा कि भगवा ज्ञान का प्रतीक है और सूर्य का रंग भी भगवा है. वो यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि भारतीय समाज भगवे को सन्यास का रंग मानता है और यह अध्यात्म का रंग है.

उन्होंने छात्रों द्वारा किए जा रहे आत्महत्या को भी  निजी कारण बताया और कहा कि 30 वर्ष की पुलिस की नौकरी में उन्हें अनुभव हुआ है कि ज्यादातर आत्महत्या निजी कारण के चलते होती हैं.

राजस्थान पत्रिका दिल्ली एडिशन

सत्यपाल ने कहा कि प्राचीन काल में विश्व गुरु रहा भारत शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ गया था, लेकिन अब उच्च शिक्षा को लगातार बेहतर करने के प्रयास चल रहे हैं.

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने बीते सालों में शिक्षा, विशेषकर उच्च शिक्षा के लिए जितना पैसा खर्च किया जाना चाहिए था, जैसा प्रयास करने चाहिए थे वो नही किए गये. लिहाजा हमारे पास ज्ञान, क्षमता, प्रतिभा होते हुए भी हमारे शिक्षा संस्थानों को विश्व स्तर पर प्रसिद्धि नही मिली.