SHARE


जेद्दाह –  सऊदी में 21,530 विदेशी फार्मासिस्ट 8,500 से ज़्यादा निजी फार्मेसियों में काम करते हैं जबकि कई सउदी फ़ार्मेसी कॉलेज से डिग्री हासिल करने के बावजूद में बेरोज़गार है. इसी के साथ, स्वास्थ्य मंत्रालय के अस्पतालों में 25,000 से ज़्यादा फार्मासिस्टों में से सिर्फ 22% सऊदीज़ हैं.

जबकि प्रवासी फार्मास्यूटिकल क्षेत्र पर पूरी हावी हैं. यह हालात देखकर अब ऐसा लग रहा  है कि श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय ने इस क्षेत्र में नौकरियों का राष्ट्रीयकरण करना बेहद मुश्किल बना दिया है, इस क्षेत्र में अब प्रवासियों को नहीं बल्कि सऊदीवासियों को ही नौकरी पर रखा जाएगा. इसी तरह कई निजी फार्मेसियों ने अलग-अलग कारणों का हवाला देते हुए विदेशी श्रमिकों की जगह सऊदीवासियों को रोज़गार दिया जाएगा.

सऊदी फार्मास्युटिकल सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ. खालिद अल-ब्राइकन ने कहा, “कई फार्मेसियों को सऊदी को रोज़गार देने की गंभीर इच्छा और दृढ़ संकल्प नहीं है.”

उन्होंने कहा कि हर फार्मेसी के पास कई अन्य देशों की तरह मैनेजर होना चाहए और यह मैनेजर सऊदी ही होना चाहिए. उन्होंने कहा कि “हमें श्रम कानून के मुताबिक, फार्मेसियों के काम के घंटे भी निर्धारित करने चाहिए.”

source: Saudi Gazette

अल ब्राइकन ने कहा, सऊदी फार्मासिस्ट को आकर्षक सैलरी और लाभ दिए जाने के लिए उन्हें क्षेत्र में काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए. उन्होंने सामुदायिक फार्मेसियों में सऊदी महिला फार्मासिस्ट को रोजगार के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय और श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय के संयुक्त प्रयासों की सराहना की.

उन्होंने कहा कि, “इस कार्यक्रम में सऊदी महिलाओं को नौकरी दी जाएगी.” श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय के प्रवक्ता खालिद अबलखेल ने कहा कि, फार्मेसी सेक्टर में सऊदी नागरिकों को नौकरियां देने के लिए मंत्रालय के प्रयासों पर प्रकाश डाला.

पिछले पांच सालों के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय ने 1,418 विदेशी सहित 14,188 फार्मासिस्टों को रोज़गार दिया है. आकड़ों के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत काम करने वाले 25,119 फार्मासिस्टों में से सिर्फ 22 प्रतिशत सऊदी हैं. निजी अस्पताल 1,599 फार्मासिस्टों को रोजगार देते हैं जबकि 46 फार्मासिस्ट मेडिकल शहरों में काम करते हैं. कारखाने और गोदामों सहित अन्य संगठनों में 1,439 फार्मासिस्ट काम करते है.

Total Share



Source link

SHARE