SHARE


अबू धाबी के निवासियों को महंगी नंबर प्लेट खरीदने का शौक रहता है, हर कोई नंबर वन कार प्लेट खरीदने की दौड़ में रहता है. इस नंबर प्लेट को खरीदने के लिये खरीदार को भारी रकम चुकानी पड़ती है, लेकिन सुर्खियाँ पाने के चक्कर में और अपने शौक पुरे करने की वजह से कभी-कभी यह खरीददार के खिलाफ हो जाती है.

अबू धाबी के एक बिजनेसमैन को धोखाधड़ी के आरोप में जेल भेजा गया और यह जेल की सज़ा तीन साल के लिए व्यापारी को सुनाई गयी. जिसने अबू धाबी में नंबर वन की कार नंबर प्लेट खरीदने के लिए 31 मिलियन दिरहम का चेक दिया था जोकि बाउंस हो गया. जिसके बाद व्यापारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी

33 वर्षीय अमीराती व्यक्ति ने नवम्बर 2016 में अबू धाबी में नंबर वन कार प्लेट खरीदने के लिए 31 लाख दिरहम (84,39,750 डॉलर) रूपये का चेक दिया था, उस समय इस शख्स की काफी चर्चा हुई थी, लेकिन जब इस व्यक्ति का चेक बैंक में दिखाया गया तो बैंक ने इसे गलत साबित कर दिया. इस व्यक्ति का नाम अब्दुल्लाह अल माहिरी था.

सार्वजनिक निधि अभियोजन पक्ष ने नीलामी के आयोजकों द्वारा अबू धाबी सरकार की स्वर्ण जयंती समारोह के दौरान नंबर प्लेट की खरीद के बाद व्यक्ति की शिकायत दर्ज करने के बाद अमीराती व्यक्ति की गिरफ्तारी के आदेश दिए. अभियोजन पक्ष ने अब्दुल्लाह पर धोखाधड़ी के साथ-साथ बाउंस चेक जारी करने का आरोप लगाया.

जांच के दौरान, अमीराती व्यक्ति ने अपने उपर लगे आरोपों को क़ुबूल किया , उसने कहा की “नंबर प्लेट खरीदते समय उनके पास पूरी नकदी नहीं थी, उन्होंने यह भी कहा की “वह इस नंबर प्लेट को बेचना चाहते थे, ताकि वह आयोजकों को बाकि के नकदी का भुगतान कर सकें.” लेकिन नियमों के अनुसार व्यक्ति अपनी नंबर प्लेट को तभी बेच सकता है जब तक उसने खरीदी गयी नंबर प्लेट की राशि का पूर्ण रूप से भुगतान ना किया हो.

Total Share



Source link

SHARE